Name Dr. Mamta Purohit

Designation Research Officer
Qualification  M. Sc. (Botany), B. Ed., Ph. D.
Experience 27 years
Subject Area Botany, Extension
Publication  

Training Attended

 List relevant in service training activities:

  1. Participated in Herbarium training for two weeks held at Forest Research Institute, Dehradun, in January 1983.
  2. Participated in a training  cum  interaction programme on vegetative propagation conducted by Dr. Russel Haines, FAO Consultant and Director, Qeensland Forest Research Institute, Australia , from 09/08/1994 to 12/08/1994 held at Tropical Forest Research institute, Jabalpur .
  3. Participated in training in "Nutrient Cycling and Experimental Methods with Special emphasis on field experiments" conducted by Dr. Donald J. Mead, Reader in Forestry, Department of Plant Science, Lincoln University, World Bank Free Project Consultant, New Zealand, from 18/06/1996 to 26/06/1996 held at Tropical Forest Research institute, Jabalpur.
  4. Participated in training in "Short  course on Forest Tree Seed Technology" conducted by F.T. Bonner and W.W. Elam, United State, Department of Agriculture, Forest Service, Southern Forest Experimental Station, New Orlearns, Louisiana, from 09/10/1996 to 18/10/1996 held at Forest Research Institute, Dehradun.
  5. Participated in training in "Statistical Methods and Design of Experiments" conducted at Tropical Forest Research institute, Jabalpur  from 02/12/1996 to 07/12/1996 under World Bank Free Project
  6. Completed "SPSS Awareness Course" from 02/12/1996 to 07/12/1996 held at Tropical Forest Research institute, Jabalpur .
  7. Participated in a 4 day workshop on "Teak Seeds" conducted by J.A. Mackenzie, Plant Physiologist and Consultant, World Bank, New Zealand from 28/05/1998 to 31/05/1998 held at   Tropical Forest Research institute, Jabalpur .
  8. Completed "Training on Research Communication", from 17/07/2000 to 19/07/2000 held at Tropical Forest Research institute, Jabalpur .
  9. Participated in the "Management Development Programme on C & I for Sustainable Forest Management" conducted by the Indian Institute of Forest Management, Bhopal from 05/02/2002 to 07/02/2002 at Tropical Forest Research institute, Jabalpur.
  10.      Participated in "10 Weeks Induction training for Scientists and Research Officers of ICFRE", organized by the Indian Council of Forestry Research and Education, Dehradun as part of HRD programme from 15/03/2010 to 22/05/2010 at Forest Research Institute, Dehradun.

Research Papers/Popular Articles

उद्यमिता समाचार पत्र

1.    ममता पुरोहित एवं विष्णु श्रीवस्तव, 2001, परंपागत ईंट भट्टा से ईंट निर्माण के विभिन्न पहलू, उद्यमिता समाचार पत्र, अक्टूबर 2001, पृ. सँ. 13-14.

2.    ममता पुरोहित, एस. एल. मीणा एवं सी. कृष्णन, 2002, पॉलीगृह उद्यमिता समाचार पत्र, मई 2002, पृ. सँ. 41-42.

3.    ममता पुरोहित एवं विष्णु श्रीवस्तव, 2002, दोना पातल व्यवसाय का मुख्य आधार पलाश (ब्यूटिया मोनोस्पर्मा), उद्यमिता समाचार पत्र, सितम्बर 2002, पृ. सँ. 56-57.

4.    ममता पुरोहित एवं विष्णु श्रीवस्तव, 2004, सोना तौलने वाली रत्ती औषधीय भी है, उद्यमिता समाचार पत्र, जनवरी 2004, पृ. सँ. 61-62.

5.    ममता पुरोहित एवं विष्णु श्रीवस्तव, 2004, मिट्टी से प्रतिमा निर्माण की प्रक्रिया, उद्यमिता समाचार पत्र, जनवरी 2004, पृ. सँ. 74-77.

6.    ममता पुरोहित, 2004, गोंद एकत्रीकरणः आदिवासी एवं ग्रामीणों की आय का साधन, उद्यमिता समाचार पत्र, मार्च 2004, पृ. सँ. 42-47.

7.    ममता पुरोहित, 2005, ग्रीष्म ऋतु में गुणकारी गुलकंद, उद्यमिता समाचार पत्र, जुलाई 2005, पृ. सँ. 41-42.

8.    ममता पुरोहित, 2005, बेर का शर्बत एवं पपीते से टूटी फ्रूटी बनाने की विधी, उद्यमिता समाचार पत्र, जुलाई 2005, पृ. सँ. 45-46.

9.    ममता पुरोहित, 2005, लगाओ, खाओ और बेचो बांस, उद्यमिता समाचार पत्र, जुलाई 2005, पृ. सँ. 65-66.

10. ममता पुरोहित, 2005, बहुऔद्योगिक पॉपुलर वृक्षारोपण, उद्यमिता समाचार पत्र, अगस्त 2005, पृ. सँ. 38-41.

11. ममता पुरोहित, 2005, मध्यप्रदेश में झींगापालन, उद्यमिता समाचार पत्र, सितम्बर 2005, पृ. सँ. 53-54.

खेती

1.    एस. एल. मीणा, ममता पुरोहित एवं एन. सी. पंत, 2001, यो उगाएं बांस, खेती, जून 2001, पृ. सँ. 15-16.

खबर परिक्रमा

1.    ममता पुरोहित, 2003, स्त्रोत (कविता), खबर परिक्रमा, वर्ष 4, अंक 22, मई-जून 2003, पृ. सँ. 15.

वन अनुसंधान पत्रिका

1.    ममता पुरोहित, 1998, पत्तीएक रोग भगाए अनेक तुलसी, वन अनुसंधान पत्रिका, वर्ष 4, अंक 4, अक्टूबर-दिसम्बर 1998, पृ. सँ. 2.

2.    ममता पुरोहित, 1999, क्षणिका, वन अनुसंधान पत्रिका, वर्ष 5, अंक 4, अक्टूबर-दिसम्बर 1998, पृ. सँ. 13.

वन दर्पण

1.    ममता पुरोहित एवं सी. कृष्णन, 2001, पर्यावरणीय स्वास्थ सुधारक वृक्ष, वन दर्पण, वर्ष 2001, अंक 3, पृ. सँ. 12-14.

2.    ममता पुरोहित एवं विष्णु श्रीवास्तव, 2004, रत्ती एक गुण अनेक, वन दर्पण, वर्ष 2004, अंक 5, पृ. सँ. 74-75.

3.    ममता पुरोहित, 2005-2006, रतनजोतः पौध उत्पादन एवं रोपण, वन दर्पण, वर्ष 2005-2006, अंक 6, पृ. सँ. 29-31.

4.    ममता पुरोहित, 2006-2007, सामाजिक जीवन और पर्यावरण, वन दर्पण, वर्ष 2006-2007, अंक 7, पृ. सँ. 30-31.

5.    ममता पुरोहित, 2010, वन बीज एवं उपचार, वन दर्पण, वर्ष 2010, अंक 10, पृ. सँ. 18-22.

6.    ममता पुरोहित, 2010, केले की खेती गन्ने का विकल्प, वन दर्पण, वर्ष 2010, अंक 10, पृ. सँ. 30-31.

 

पर्यावरण ऊर्जा टाइम्स

1.    ममता पुरोहित एवं हरप्रसाद, 2006, महत्वपूर्ण वन उत्पाद गोंद, पर्यावरण ऊर्जा टाइम्स, वर्ष 9, अंक 4, मई 2006, पृ. सँ. 217-219.

2.    ममता पुरोहित, 2007, गुंजा एक काम अनेक, पर्यावरण ऊर्जा टाइम्स, वर्ष 10, अंक 8, सितम्बर 2007, पृ. सँ. 423.

3.    ममता पुरोहित, 2007, पेड़ों से दोना, पत्तल और भाला, पर्यावरण ऊर्जा टाइम्स, वर्ष 10, अंक 8, सितम्बर 2007, पृ. सँ. 424-426.

4.    ममता पुरोहित, 2007, व्यापारिक वृक्ष महुआः संवर्धन एवं संरक्षण, पर्यावरण ऊर्जा टाइम्स, वर्ष 10, अंक 11, दिसम्बर 2007, पृ. सँ. 366-367.

5.    ममता पुरोहित, 2008, विनाशकारी खरपतवार गाजर घास, पर्यावरण ऊर्जा टाइम्स, वर्ष 11, अंक 2, मार्च 2008, पृ. सँ. 133-134.

6.    ममता पुरोहित एवं प्रतिभा भटनागर, 2008, साल वृक्षों के विनाशक साल बोरर, पर्यावरण ऊर्जा टाइम्स, वर्ष 11, अंक 3, अप्रैल 2008, पृ. सँ. 168-172.

7.    ममता पुरोहित, 2008, बिना मिट्टी और धूप की फसलः मशरूम, पर्यावरण ऊर्जा टाइम्स, वर्ष 11, अंक 06, दिसम्बर 2008, पृ. सँ. 316-318.

8.    ममता पुरोहित, 2008, नाडेपः उत्तम खाद उत्पादक, पर्यावरण ऊर्जा टाइम्स, वर्ष 11, अंक 08, सितम्बर 2008, पृ. सँ. 414.

9.    ममता पुरोहित, 2008, अगस्त्य भूमि सुधारक, आय वर्धक, पर्यावरण ऊर्जा टाइम्स, वर्ष 11, अंक 09, अक्टूबर 2008, पृ. सँ. 458-459.

Sustainable Forestry

1.    Mamta Purohit, N.C.Pant and R.B. Lal, 1997, Priliminary observation on storage of Albizia procera (Roxb.) Benth seeds, Sustainable Forestry, Vol. 2, No. IV, pp. 9-12.

2.    Mamta Purohit, 1998, Effect od different storage conditions on mycoflora and oil contents of Karanj (Pongamia pinnata (L.)) Pierre seeds., Sustainable Forestry, Vol. 3, No. 12 II, pp. 3-5.

3.    ममता पुरोहित, 1998, सफ़ेद सिरिस (एलबीजिआ प्रोसेरा) के असामान्य नवोदभिद, सस्टेनेबल फॉरेस्ट्री, वॉल. 3, नं. 4, पृ. सँ. 07.

4.    Mamta Purohit, N.C.Panta and Jamaluddin, 1999, The effect of seed grading and storage conditions on germination and mycoflora associated with seeds of Lagerstroemia parviflora Roxb., Sustainable Forestry, Vol. 4, No. I, pp. 3-7.

5.    Mamta Purohit, N.C.Pant, K. K. Soni and Jamaluddin, 1999, Response of Eucalyptus globules Labill seeds during storage, Sustainable Forestry, Vol. 4, No. III, pp. 6-8.

6.    ममता पुरोहित एवं सी कृष्णन, 1999, माहुल (बाहुनिया वेहलाई) ः एक बहुउपयोगी वन बेल, सस्टेनेबल फॉरेस्ट्री, वॉल. 4, नं. 4, पृ. सँ. 8-9.

7.    Mamta Purohit, 1999, Some medicinally important forest fruits, Sustainable Forestry, Vol. 4, No. IV, pp. 10-15.

8.    C. Krishnan and Mamta Purohit, 2000, Prosopis juliflora (swartz.) J.C.: An excellent source of fuelwood, Sustainable Forestry, Vol. 5, No. 1 & 2, pp. 10.

9.    Mamta Purohit and C. Krishnan, 2001, Polyembryory in red silk cotton tree (Bombax ceiba L.), Sustainable Forestry, Vol. 6, No. 1 & 2, pp. 4-5.

10. ममता पुरोहित, एस. अजय सिंह एवं विष्णु श्रीवास्तव, 2001, पर्यावरणीय प्रदूषण निवारक वृक्ष, सस्टेनेबल फॉरेस्ट्री, वॉल. 6, नं. 3, पृ. सँ. 15, 16 एवं 18.

11. Mamta Purohit, Smita Bisht and C. Krishnan, 2002, Emergence of two radicles are not from single seed of Pterocarpus marsupium: An observation, Sustainable Forestry, Vol. 7, No. I, pp. 13-14.

12. ममता पुरोहित, 2002, बहुमूल्य साल एवं विनाशकारी साल बोरर, सस्टेनेबल फॉरेस्ट्री, वॉल. 7, नं. 2 एवं 3, पृ. सँ. 17-20.

13. ममता पुरोहित, 2003, कपोक (सीबा पेन्टेन्ड्र) के असामान्य मूलांकुर, सस्टेनेबल फॉरेस्ट्री, वॉल. 8, नं. 1, पृ. सँ. 22-23.

14. ममता पुरोहित, एस. एल. मीणा, के. के. कुंजाम, मनीष सपकाल एवं एस. पी. त्रिपाठी, 2003, लेन्टानाः लाभदायी कम हानिकारक ज्यादा, सस्टेनेबल फॉरेस्ट्री, वॉल. 8, नं. 2, पृ. सँ. 12-18.

15. ममता पुरोहित, 2003, पलाश (ब्यूटिआ मोनोस्पर्मा) लाभ (टा.) के असामान्य बीजांकुर, सस्टेनेबल फॉरेस्ट्री, वॉल. 8, नं. 2, पृ. सँ. 15

विज्ञान सम्मेलन

16. ममता पुरोहित एवं सी. कृष्णन (2001), खैर (अकेसिया कटैचू बिल्ड) के असामान्य नवोदभिदः वृक्षारोपण पूर्व आकलन आवश्यक, भारतीय विज्ञान सम्मेलन 2001, जनवरी सारांशिका- संयुक्तांक, अंक 7, सँख्या 1-2, पृ सँ. 128.

Journal of Non Timber Forest Products

17. Mamta Purohita and Neelu Gera, 1998, Influence of storage containers and seed mycoflora on oil content of Derris indica seeds during storage. Journal of Non-Timber Forest Products, Vol. 5 (3/4): 176-178.

Journal of Tropical Forestry

18. Mamta Purohit, Neelu Gera and A. K. SIngh, 1997, Effect of containers and fungicide treatments on viability and seed mycoflora of Joris indica over a long period of storage, Journal of Tropical Forestry, Vol. 13, No. II, PP. 77-83

19. Mamta Purohit and Jamaluddin, 2003, Effect of different storage containers on germination and mycoflora of Pongamia pinnata seeeds, Journal of Tropical Forestry, Vol. 19, No. I & II, PP. 16-20.

वानिकी संदेश

1.    ममता पुरोहित एवं सुरेश चंद, 1994, छोटि कटेरी- घरेलू इलाजों से भरी ग्रामीण वनस्पति, वानिकी संदेश, वॉल. XVIII, नं. 1, पृ. सँ. 37-38.

2.    ममता पुरोहित एवं अमित सहाय, 1994, कृषि वानिकी में औषधीय पौधों का समावेश, वानिकी संदेश, वॉल. XVIII, नं. 4, पृ. सँ. 38-41

3.    ममता पुरोहित, 1996, करंज (डेरिस इंडिका) के असामान्य पौधों अध्ययन, वानिकी संदेश, वॉल. XX, नं. 2, पृ. सँ. 16-19.

4.    ममता पुरोहित, 1996, पलाशः मानव समाज की सेवा करता एक परोपकारी वृक्ष, वानिकी संदेश, वॉल. XX, नं. 3, पृ. सँ. 23-24.

5.    Mamta Purohit, 1997, Employment and income generating MFP species for women: Collection, processing and marketing, Vaniki Sandesh, Vol.  XXI, No. 1, pp 7-13.

6.    ममता पुरोहित एवं आर. बी. लाल, 1997, विटास्कोप द्वारा वन बीजों की टेट्राजोलियम स्टेनिंगः समय की बचत, वानिकी संदेश, वॉल. XXI, नं. 2, पृ. सँ. 12-15.

7.    ममता पुरोहित, 1997, ब्यूटिआ मोनोस्पर्मा के बीजों का असामान्या अंकुरण, वानिकी संदेश, वॉल. XXI, नं. 3, पृ. सँ. 4-6.

8.    ममता पुरोहित एवं आर. बी. लाल, 1997, लेग्युमिनोसी कुल की वन प्रजातियों की बीजवाहित कवकों की सूची, वानिकी संदेश, वॉल. XXI, नं. 4, पृ. सँ. 15-20.

9.    ममता पुरोहित, एन. सी. पंत एवं आर. बी. लाल, 1998, नीम (ऐझाडिरेक्टा इंडिका) के बीजों का असामानुअ अंकुरण, वानिकी संदेश, वॉल. XXII, नं. 1, पृ. सँ. 5-7.

10. M. Purohit and N. Gera, 1998, A report on abnormal seedlings of Hardwedeia binata Roxb., Vaniki Sandesh, Vol.  XXII, No. 4, pp 27-29.

11. ममता पुरोहित, 1999, एकत्रीकरण अंतरालों का पलाश (ब्यूटिआ मोनोस्पर्मा (लाम) टाब) बीजों के अंकुरण पर प्रभाव, वानिकी संदेश, वॉल. XXIII, नं. 1, पृ. सँ. 30-32.

12. ममता पुरोहित एवं आभा रानी गुप्ता, 1999, बिक्सा ओरेलिना लिन (लिपिस्टिक ट्री) के जुड़वा नवोदभिद, वानिकी संदेश, वॉल. XXIII, नं. 9, पृ. सँ. 8-9.

13. ममता पुरोहित, 2000, बाहुनिया वेरीगेटा (कचनार) के असामान्य नवोदभिद, वानिकी संदेश, वॉल. XXIV, नं. 1, पृ. सँ. 6-7.

14. Mamta Purohit and C. Krishnan, 2001, An observation of unusual leaflets in Aegle marmelos (L.) carrea, Vaniki Sandesh, Vol.  XXV, No. 2, pp 28.

15. ममता पुरोहित, 2003, यूकेलिप्टस ग्लोब्यूलानलाबिल्लः बीजों का असामान्य अंकुरण एवं बीज वाहित कवक प्रजातियाँ, वानिकी संदेश, वॉल. XXVII, नं. 1, पृ. सँ. 31-32.

16. Hara Prasad, Mamta Purohit and S. K. Karna, 2003, Forest conservation and management: Contemporary issues for earth care, Vaniki Sandesh, Vol.  XXVII, No. 4, pp 33-35.

17. ममता पुरोहित, सत्यप्रकाश त्रिपाठी एवं होरीलाल, 2004, वानस्पतिक रंग, वानिकी संदेश, वॉल. XXVIII, नं. 1, पृ. सँ. 28-32.

18. ममता पुरोहित, 2004, बीज प्रसुप्तावस्था एवं उपचार, वानिकी संदेश, वॉल. XXVIV, नं. 2 evaM 3, पृ. सँ. 38-44.

19. ममता पुरोहित, एस. एल. मीणा, सत्यप्रकाश त्रिपाठी एवं हरप्रसाद, 2005, पापलर वृक्षारोपण एवं लाभ, वानिकी संदेश, वॉल. XXIX, नं. 1, पृ. सँ. 1-5.

20. ममता पुरोहित एवं एस. एल. मीणा, 2009, कार्बनिक खादः उत्तम मृदा प्रसाधन, वानिकी संदेश, वॉल. XXX, नं. 1, पृ. सँ. 30-34.

21. ममता पुरोहित एवं सरज मीणा, 2010, मध्यप्रदेश के लिए अनुमोदित कांटे रहित कुसुमः संवर्धन एवं विपणन, वानिकी संदेश, वॉल. XXXI, नं. 1, पृ. सँ. 28-30.

22. ममता पुरोहित, 2010, बांस (डेन्ड्रोकेलेमस एसपर)ः खाएं और खिलाएं, वानिकी संदेश, वॉल. XXXI, नं. 3, पृ. सँ. 42-43.

पर्यावरण

1.    ममता पुरोहित, 1993, पर्यावरण शिक्षाः उद्येश्य एवं आवश्यकता, पर्यावरण पत्रिका, वर्ष 6, अंक 1, दिसम्बर 1993, पृ. सँ. 2-3.

2.    ममता पुरोहित, 1996, अन्तर्मन मन की पुकार, पर्यावरण पत्रिका, वर्ष 8, अंक 3, जून 1996, पृ. सँ. 13.

3.    ममता पुरोहित, 1998, केर्रिया लाक्का- लाख उद्योग का आधार, पर्यावरण पत्रिका, वर्ष 10, अंक 3, जून 1998, पृ. सँ. 40-44.

4.    एस. एल. मीणा, ममता पुरोहित एवं एन. सी. पन्त, 1998, पोलीगृहः उन्नत पौध देनेवाली सस्ती, सुन्दर एवं टिकाऊ संरचना, पर्यावरण पत्रिका, वर्ष 10, अंक 4, सितम्बर 1998, पृ. सँ. 7-9.

5.    ममता पुरोहित, 1998, पोलीथीन की थैलियाँ: पर्यावरण की दुश्मन, पर्यावरण पत्रिका, वर्ष 11, अंक 1, दिसम्बर 1998, पृ. सँ. 1-3 एवं 22.

6.    एस. एल. मीणा, ममता पुरोहित एवं सी. कृष्णन, 2000, पोपलर: वर्धी प्रजनन द्वारा पौध तैयार करना, पर्यावरण पत्रिका, वर्ष 12, अंक 2, मार्च 2000, पृ. सँ. 10-12.

7.    ममता पुरोहित, एस. एल. मीणा. एवं विष्णु श्रीवास्तव, 2000, ड्राप्सीः गिरते नैतिक मूल्यों का नतीजा, पर्यावरण पत्रिका, वर्ष 12, अंक 2, मार्च 2000, पृ. सँ. 29-32.

8.    ममता पुरोहित एवं जमालुद्दीन, 2001, आयस्टर मशरूम की खेती, पर्यावरण पत्रिका, वर्ष 13, अंक 1-4, दिसम्बर 2000, मार्च, जून व सितम्बर 2001, पृ. सँ. 90-92.

9.    ममता पुरोहित एवं विष्णु श्रीवास्तव, 2001 व 2002, जैव विविधता और मानव जीवन, पर्यावरण पत्रिका, वर्ष 14, अंक 1-2, दिसम्बर 2001  व मार्च 2002, पृ. सँ. 1-4 व 12.

10. ममता पुरोहित एवं प्रतिभा भटनागर, 2001 व 2002, मोवा घास रस्सी केन्ड चाड़ा (डिन्डोरी), पर्यावरण पत्रिका, वर्ष 14, अंक 1-2, दिसम्बर 2001  व मार्च 2002, पृ. सँ. 57 व 60.

11. ममता पुरोहित एवं विष्णु श्रीवास्तव, 2002, माहुल के दोना पातलः रोजगारोन्मुख एवं पर्यावरणीय मित्र, पर्यावरण पत्रिका, वर्ष 14, अंक 4, सितम्बर 2002, पृ. सँ. 28-31.

12. एस. एल. मीणा, ममता पुरोहित एवं के. के. कुंजाम, 2003, आम (मेन्जफेरा इंडिका): संवर्धन एवं सुरक्षा, पर्यावरण पत्रिका, वर्ष 15, अंक 2, मार्च 2003, पृ. सँ. 37-40.

13. ममता पुरोहित, 2003, एक व्यापारिक वन उत्पाद: गोंद, पर्यावरण पत्रिका, वर्ष 15, अंक 3, जून 2003, पृ. सँ. 23-37.

14. ममता पुरोहित एवं विष्णु श्रीवास्तव, 2003, पलाश के पीले फूल, पर्यावरण पत्रिका, वर्ष 15, अंक 4, सितम्बर 2003, पृ. सँ. 28-29 एवं 42.

15. ममता पुरोहित एवं जमालुद्दीन, 2009, आयस्टर मशरूम की खेती पर्यावरण हितैषी, पर्यावरण पत्रिका, वर्ष 20, अंक 62, मार्च 2009, पृ. सँ. 42-43.